Loading Posts...

ध्यान से इन्हें देख लो बिहारियों, हमे गाली देने वाली कांग्रेस से जा मिले ये नेता, इन्हें सिखाना है सबक

Biharis should teach these traitors a lesson in Loksabha Election 2019
Biharis should teach these traitors a lesson in Loksabha Election 2019
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter
Pin on Pinterest
Pinterest

कृपया शेयर जरुर करें
Biharis should teach these traitors a lesson in Loksabha Election 2019

Biharis should teach these traitors a lesson in Loksabha Election 2019

Biharis should teach these traitors a lesson in Loksabha Election 2019 : वैसे जानकारी तो पहले से ही सबको थी, पर आज आख़िरकार अधिकारिक रूप से लोकसभा 2019 के लिए बिहार में महागठबंधन हो ही गया 

आज अहमद पटेल से बिहार के कई नेता मिले, जिनमे जीतनराम मांझी, तेजस्वी यादव, उपेन्द्र कुशवाहा जैसे नेता शामिल थे, वैसे इन नेताओं में कोई ऐसा नहीं है जो की पॉजिटिव राजनीती करता हो, तीनो के तीनो घोर जातिवादी और तुष्टिकरण वाले नेता है, और सच बात ये भी है की ये अपनी जाति के भी सगे नहीं है, अब्दुल जब इनकी जातियों पर अत्याचार करते है तो ये गायब हो जाते है, और कई मामलों में अब्दुलों के साथ ही खड़े रहते है

खैर, जैसा की आप जानते ही होंगे की कांग्रेस पार्टी के एक मुख्यमंत्री कमलनाथ ने हाल ही में बिहारियों पर हमला किया है, बिहारियों को मध्य प्रदेश में डराने की कोशिश की है, और बिहारियों को नौकरियों से निकलवाने की भी कोशिश की है

इस से पहले गुजरात में इसी कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने बिहारियों को मरवाया भी था, और बिहारियों को धमकियाँ दी थी, उस से पहले महाराष्ट्र में राज ठाकरे को खड़ा करके इसी कांग्रेस ने बिहारियों पर हमले करवाया था

बिहारियों को कांग्रेस मरवाती है और अपमानित करती है, और हमारे बिहार के जीतन राम मांझी, तेजस्वी यादव, उपेन्द्र कुशवाहा जैसे लोग उसी कांग्रेस से जा मिलते है, बिहारियों को मारने वाली कांग्रेस से ये नेता मिल जाते है, बिहारियों को गाली देने वालो को ये गले लगाते है

बिहार में कांग्रेस का कोई अस्तित्व नहीं है, पर कांग्रेस का बदला बिहारियों को इन गद्दारों से भी लेना होगा, जो की बिहारियों को गाली देने वाली कांग्रेस के साथ जा मिले है

इन सभी की पार्टी के उम्मीदवारों की जमानतों को जप्त करवाकर बिहार को कांग्रेस से बदला लेना होगा, बिहार में 40 लोकसभा की सीटें है, और इस बार अपमान का बदला कांग्रेस और उसके साथियों से हर कीमत पर बिहारियों को लेना होगा

बिहार में एक बात बोली जाती है – छठी का दूध याद दिलाना, इन गद्दारों को भी छठी का दूध याद दिलाना है जो हमे मरवाने वाली कांग्रेस से जा मिले है

0
HeartHeart
0
HahaHaha
0
LoveLove
0
WowWow
0
YayYay
0
SadSad
0
PoopPoop
0
AngryAngry
Voted Thanks!

srks2110

The author didnt add any Information to his profile yet

Loading Posts...
error: Content is protected !!