Press "Enter" to skip to content

मैं इसाई स्कुल में पढ़ा हूँ, मेरे लिए जीजस की प्रार्थना राष्ट्रगान के बराबर है : चंद्रचूड, जज सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट के जज चंद्रचूड ने कहा है की उनके लिए जीजस की प्रार्थना और भारत का राष्ट्रगान बराबर है, चंद्रचूड सुप्रीम कोर्ट के वर्तमान जज है और उन्होंने जीजस की प्रार्थना को राष्ट्रगान के बराबर बताया 

चंद्रचूड ने कहा है की मैं एक इसाई स्कुल में पढ़ा हूँ और मैंने वहां पर राष्ट्रगान के साथ साथ जीजस की प्रार्थना “आवर फादर” भी गाया है, और मेरे लिए जीजस की प्रार्थना और राष्ट्रगान बराबर है 

यानि जज साहब जीजस की प्रार्थना को राष्ट्रगान जैसा मानते है, ये देश सेक्युलर है यहाँ पर एक सिटिंग जज ने ऐसी बात कही है पर कोई शोर नहीं मचाया जायेगा 

loading...

बस कोई जज ये कह दे की मैं सरस्वती शिशु मंदिर में पढ़ा हूँ और मेरे लिए राष्ट्रगान और हनुमान चालीसा बराबर है, फिर इस देश का संविधान, सेकुलरिज्म और बाकि सबकुछ खतरे में जरुर आ जायेगा 

पर जज साहब के लिए जीजस संविधान के बराबर है, इसपर कोई शोर तो मचना दूर की बात है, इसकी तो लोग तारीफ ही कर देंगे, हां इस देश में कोई खुद को इसाई कोई खुद को मुसलमान कह सकता है, पर अगर कोई खुद को हिन्दू कहे तो सेकुलरिज्म बस खतरे में आता है 

वैसे सुप्रीम कोर्ट में हिन्दुओ को लेकर ही सारे फैसले, हिन्दू त्यौहार, हिन्दू मंदिर के फैसले ही सुप्रीम कोर्ट में क्यों होते है, और किस मानसिकता से होते है ये आप समझ सकते है, वहां जीजस को मानने वाले जज जो बैठे है, और इसी कारण सिर्फ हिन्दू धर्म पर ही फैसले किये जाते है, ईसाइयत को लेकर नहीं 

More from ताज़ा खबरMore posts in ताज़ा खबर »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.