Press "Enter" to skip to content

जर्मनी में राहुल गाँधी ने भारत को बताया असुरक्षित, ISIS को बताया नौकरियां देने वाली संस्था

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी जर्मनी और ब्रिटेन की यात्रा पर है, कल उन्होंने जर्मनी में एक कार्यक्रम को संबोधित किया और भारत, नरेंद्र मोदी के ISIS इत्यादि पर अपने विचार रखे

राहुल गाँधी ने नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए कहा की – मोदी सिर्फ नफरत फैलाते है और मैं प्यार फैलता हूँ, इसी कारण मैंने मोदी को संसद में गले लगा लिया था

राहुल गाँधी ने जर्मनी में कहा की – भारत में महिलाएं असुरक्षित है, महिलाओं के खिलाफ बहुत अपराध होता है, महिलाओं का भारत में रहने बहुत मुश्किल है

loading...

और इसके अलावा राहुल गाँधी ने ISIS पर भी एक बड़ा बयान देते हुए ISIS को नौकरी देने वाली संस्था बता दिया, राहुल गाँधी ने कहा की ISIS इसलिए बना क्यूंकि लोगों के पास नौकरी नहीं है, लोग बेरोजगार है इसलिए ISIS बना

राहुल गाँधी के अनुसार जो लोग बेरोजगार थे वो ISIS में नौकरी करने के लिए शामिल हो गए, वैसे भारत से भी सैंकड़ो मुस्लिम युवक ISIS में शामिल हुए थे और उनमे से सभी अच्छे घरों के थे, जो भारत से इतनी दूर सीरिया तक गए, इराक तक गए, सभी धनवान थे

loading...

राहुल गाँधी के बयानों को जर्मनी और अन्य देशों के अख़बारों और मीडिया चैनल में चलाया गया, अब राहुल गाँधी ने इन बयानों का क्या प्रभाव पड़ेगा ये शोध का विषय है, पर इतना तय है की जिस भारत में विदेशी निवेश की जरुरत है, विदेशी टूरिज्म की जरुरत है, लोगों ने उस भारत की नकारात्मक छवि बनाने की कोशिश की

अब राहुल गाँधी के बयानों से विदेशी महिलाएं जो भारत में टूरिस्ट बनकर आती है वो जरुर डरेंगी और निवेशक भी सहमेंगे, राहुल गाँधी के बयानों से भारत का काफी नुक्सान हुआ है

More from अन्य खबरMore posts in अन्य खबर »

6 Comments

  1. Praveen Sharma

    वन्दे मातरम् जय श्री राम, जय भाजपा तय भाजपा विजय भाजपा…..Har Har Mahadev….. जय जय गुरू देव, 2019 में मोदी जी आएंगे, मोदी जी लाओ देश बचाओ

  2. If the Maharashtra government has its way, the onus for implementing the Centre’s “historic” decision to fix minimum support prices (MSP) for crops at 1.5 times their average production costs will not lie with state procurement agencies.

  3. According to a survey, demonetization had led to Rs 2.8 lakh crores less cash (Equivalent to 1.8% of GDP) and Rs 3.8 lakh crores less high denomination notes (Equivalent to 2.5% of GDP) in the Indian economy. The Economic Survey has also clarified that income tax collections have touched new high with demonetization and introduction of GST, “From about 2 per cent of GDP between 2013-14 and 2015-16, they are likely to rise to 2.3 per cent of GDP in 2017-18, a historic high.”

  4. Like!! Great article post.Really thank you! Really Cool.

Leave a Reply

Your email address will not be published.